क्लाइंट साइड और सर्वर साइड के बीच अंतर difference between client side & server side - EM

Go social

test banner

Latest

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Motivational Quotes

Tuesday, 28 November 2017

क्लाइंट साइड और सर्वर साइड के बीच अंतर difference between client side & server side


 क्लाइंट साइड और सर्वर साइड के बीच अंतर difference between client side & server side 

 क्लाइंट साइड और सर्वर साइड के बीच अंतर difference between client side & server side
 क्लाइंट साइड और सर्वर साइड के बीच अंतर difference between client side & server side 



web development एक प्रकार का संवाद (communication) है जिसमे server (एक ऐसा कंप्यूटर जो request पर जानकारी उपलब्ध करवाता है ) एवं client (एक ऐसा कंप्यूटर जो server को request भेजता है ताकि जानकारी मिल सके ) मिलकर संवाद स्थापित करते हैं ! इस प्रकार के communication से स्थापित हुआ रिश्ता जानकारियों को client के वेब ब्राउज़र मैं दर्शाने का काम करता है हम एक result की वेबसाइट देख रहे हैं जो रोल नम्बर मांगती है विद्यार्थी एक cyber caffe मैं बैठा उस रोल नम्बर को भरकर result देखता है ऐसे मैं result बताने वाली वेब साईट server हुए जो request पर result दिखा रही होती है और cyber caffe मैं जिस कंप्यूटर से request भेजी गयी है वह client कहलायेगा जिसने उपर्युक्त सुचना मांगी है !



releated :-



server side programming :

इनमे वे प्रोग्राम या script आती है जो server पर चलती हैं जिनमे

इस्तेमाल कर्ता इनपुट /input देता है

input पर request प्रोसेस होती है

storage/database के साथ communication होता है

जानकारी को वेब पेज पर डिस्प्ले कर दिया जाता है
जिनमे php, Asp.net in C#, C++, Visual Basic आदि आते हैं !
client side programming :

ये server पर न चल कर client के कंप्यूटर पर ही run होती है और result दिखा देती हैं ! ये local storage, cookies जैसे अस्थायी तौर के storage को काम मैं लेती है जिनमे javascript, html, css आदि का इस्तेमाल होता है ! उदहारण के तौर पर आपने इन्टरनेट पर कैलकुलेशन करने का तरीका किसी जीवन सुरक्षा प्रदान करने वाली वेबसाइट मैं देखा होगा इनमें डाटा फिक्स होता है आप पालिसी , उम्र तथा maturity वर्ष डालते हैं तो यह प्रोसेस होता है और हाथों हाथ result आपको मिल जाता है ये केवल javascript मैं बना हुआ calculator होता है इसमें न तो database से कुछ आ रहा होता है न ही यूजर के बतौर आप ही कुछ इसमें save कर रहे होते हैं !

मुख्य अंतर / 
difference between client side & server side :

client side forms को validate करने मैं काम आती है , animation चलाने तथा style sheet को apply करने मैं काम आती है वही server side मैं database से request पर डाटा लाना insert करना तथा update करना व्यापारिक नियमों को apply करना आदि काम होते हैं (जैसे यदि आप 5000 से कम वेतन पाने वालों को इस साल से 500 रुपये का अतिरिक्त वेतन देना चाहते हैं तो यह उन सभी कर्मचारियों पर लागु हो जायेगा जो 5000 से कम वेतन पाते हों )

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Responsive Ads Here