CLOSE ADS
CLOSE ADS

सफलता क्या है, what is success in hindi सफलता के विचार,शिक्षा पर महान व्यक्तियों के विचार,कुछ महान विचार,अच्छे विचार हिंदी में ,अच्छे विचार कैसे लाये

सफलता क्या है, what is success in Hindi सफलता के विचार,शिक्षा पर महान व्यक्तियों के विचार,कुछ महान विचार,अच्छे विचार हिंदी में ,अच्छे विचार कैसे लाये 


आज हर व्यक्ति बहुत जल्दी सफल होना चाहता है. हर कोई चाहता है की वह सफल बने. कोई भी "सफलता" के लिए इंतजार नहीं करना चाहता. लेकिन "सफलता "हमारे हाथ में नहीं होती बल्कि "सफलता "पाने के लिए निरन्तर प्रयास करना पड़ता है कार्य पूर्ण लगन और उत्साह से करें "सफलता" के मार्ग पर व्यक्ति की गाड़ी तभी तक चलती है, जब तक इसमें लगन एवं उत्साह का ईंधन होता है। लगन एवं उत्साह उत्पन्न होता है समर्पण एवं चाहत से। "सफलता" की पहली शर्त, पहला सूत्र यह है कि "सफलता" की ऐसी चाहत होनी चाहिए जैसे जीवन के लिए प्राणवायु की। "सफलता" का रहस्य ध्येय की दृढ़ता में है। समय के पाबंद रहें समय की महत्ता दर्शाते ढेरों कहावतें, मुहावरे दुनिया की लगभग हर भाषा में मिल जाएंगे। यह सत्य सभी मानेंगे कि समय अपनी चाल से चलता है न धीमा न तेज।अधिक मेहनत करने के पश्चात भी व्यक्ति कुछ कार्यों में सफल हो जाता है अौर कुछ में असफलता का मुख देखना पड़ता है। आचार्य चाणक्य ने जीवन से संबंधित बहुत सारी नीतियों का चाणक्य नीति में उल्लेख किया है। जिन पर अमल करने से जीवन की परेशानियों से छुटकारा मिलता है। यहां चाणक्य की कुछ नीतियों का वर्णन किया गया है जिन पर गौर करके जीवन में "सफलता"  हासिल की जा सकती है।


सफलता क्या हैसफलता क्या है, सफलता पाने के, एक लक्ष्य निर्धारित,लक्ष्य पर फोकस करना,जोश  यानि कि उत्साह को बढ़ा देना ।उत्साह बरकरार रखने  प्रयास करनालक्ष्य को समय से नहीं बांधो,सफलता क्या है,सफलता के विचार,शिक्षा पर महान व्यक्तियों के विचार,कुछ महान विचार,अच्छे विचार हिंदी में ,अच्छे विचार कैसे लाये
सफलता क्या हैसफलता क्या है, सफलता पाने के,
एक लक्ष्य निर्धारित,लक्ष्य पर फोकस करना,जोश  यानि कि उत्साह को बढ़ा देना ।
उत्साह बरकरार रखने  प्रयास करनालक्ष्य को समय से नहीं बांधो,सफलता क्या है,
सफलता के विचार,
शिक्षा पर महान व्यक्तियों के विचार,कुछ महान विचार,
अच्छे विचार हिंदी में ,अच्छे विचार कैसे लाये




सफलता क्या है,सफलता के विचार,शिक्षा पर महान व्यक्तियों के विचार,कुछ महान विचार,अच्छे विचार हिंदी में ,अच्छे विचार कैसे लाये


सफलता क्या है,सफलता के विचार,शिक्षा पर महान व्यक्तियों के विचार,कुछ महान विचार,अच्छे विचार हिंदी में ,अच्छे विचार कैसे लाये



*लक्ष्य पर फोकस करो
 *जोश व्  उत्साह बढ़ा दो
 *उत्साह बरकरार रखने के उपाय करो
* लक्ष्य को समय से नहीं बांधो



(1) सफलता पाने के लिए सबसे पहले एक लक्ष्य निर्धारित करना जरूरी है। जब लक्ष्य निर्धारित हो गया तब आप केवल उस लक्ष्य की  ओर आगे बढ़िए और उस  लक्ष्य को पाने के लिए आप अपनी पूरी ताकत झोंक दीजिए । अर्थात अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपने  जीवन पर पोजिटिव इम्पेक्ट डालें ।


सफलता क्या है,सफलता के विचार,शिक्षा पर महान व्यक्तियों के विचार,कुछ महान विचार,अच्छे विचार हिंदी में ,अच्छे विचार कैसे लाये



(2) लक्ष्य बनाने के बाद दूसरा स्टेप है लक्ष्य पर फोकस करना, और उसे प्राप्त करने के लिए कड़ी मिहनत करना । उस लक्ष्य को अपना जीवन बना लो, शारीर के हर हिस्से को उस विचार में डूब जाने दो और बाकी सभी विचारों को किनारे रख दो । यही सफल होने का तरीका है। चाहे जितनी भी विनाश (डिस्ट्रक्शन्स) आ जाएं आपको सिर्फ और सिर्फ अपना लक्ष्य प्राप्त करना है और कुछ नहीं । दूसरी चीजें चाहे कितनी भी आकर्षित करने वाली (attractive) क्यों न हों, उसमे कितना ही पैसा क्यों न मिले, कितनी ही शोहरत क्यों न मिले  वे नहीं चाहिए बल्कि  मुझे अपने जीवन  में सिर्फ और सिर्फ एक चीज चाहिए वह है मेरा लक्ष्य और कुछ नहीं, ऐसा आपके अन्दर की  सोच हो।

(3) तीसरी चीज है जोश  यानि कि उत्साह को बढ़ा देना । जोश का मतलब नाचना या गाना  नहीं है या फिर अपनी भावना को व्यक्त करना नहीं है बल्कि  अन्दर से कार्य करने के लिए हर हमेशा पूर्णरूप से  तैयार रहना है।   इसका मतलब  अपने लक्ष्य  को लेकर अन्दर से अच्छा महशुश करने से है, अपने प्रयास  को लेकर उत्साहित रहने से है और जब आदमी जोश में काम कर रहा होता है तो वो अत्यधिक प्रयास (extra efforts) करने  के लिए तैयार रहता है। अपने लक्ष्य को पाने के लिए अनदेखे रास्तों पर चलने को तैयार रहता है, वो सिर्फ पारंपरिक ज्ञान पर नहीं चलता बल्कि नए  तरीकों को अपनाने के लिए भी तैयार रहता है । उसका दिमाग यह सोचता रहता है कि मैं कैसे अपने उद्देश्य ( mission ) को पूरा  कर  सकता हूँ ? मैं कैसे अपने सपने  को वास्तविकता में  में बदल  सकता हूँ ? न चाहते हुए भी परिस्थितियां  आपका एनर्जी लेवल, आपका मोरल डाउन कर सकते हैं । ये सबके साथ होता है। बस ज़रूरत यह  है कि आप फिर से उसी उत्साह, उसी एनर्जी  को वापस पा लें ये सोचकर  कि आप खुद से अपने लिए क्या चाहते हैं?



(4) चौथा उपाय है उत्साह बरकरार रखने  प्रयास करना  । 

उत्साह बरकरार रखने के लिए आप प्रेरित करने वाला पुस्तक , विडिओ और व्लॉग  का सहारा भी ले सकते हैं। आप जो भी करें, जैसे भी करें पर अपना जोश व्  उत्साह  बनाये रखें । जब आप  ऐसा करेंगे  तो बिना थके आपको आपके लक्ष्य के करीब पहुंचा देगा ।

(5) पाँचवा उपाय है  लक्ष्य को समय से नहीं बांधो  ।

  लक्ष्य  के बारे में मैं यह कहना चाहता हूँ  कि लक्ष्य को समय से नहीं बांधो  । लोगों के द्वारा अकसर लक्ष्य को समय में बॉंधने  की सलाह दी जाती है, अर्थात एक निश्चित समय में लक्ष्य को प्राप्त करना है,  एक निश्चित दिनों  में लक्ष्य को प्राप्त करना है । लेकिन आपका उद्देश्य  लक्ष्य को समय से बाँधना नहीं नहीं होना चाहिए बल्कि उनका रिश्ता आपके उत्साह के साथ होना चाहिए ।
यह  महत्व  नहीं रखता है  कि लक्ष्य का पीछा करते हुए एक साल बीता या दो साल बीता या दस साल बीता । अगर उत्साह ज़िंदा है तो लक्ष्य को पाने की आपकी  लड़ाई भी ज़िंदा है और जब तक आपकी  लड़ाई ज़िंदा है तब तक आप जीत सकते हैं।



सफलता क्या है,सफलता के विचार,शिक्षा पर महान व्यक्तियों के विचार,कुछ महान विचार,अच्छे विचार हिंदी में ,अच्छे विचार कैसे लाये


                                अच्छाई और सफलता की कसौटी क्या है? 



अच्छाई और सफलता की कसौटी क्या है?

 इनका कोई लेबल नहीं, न कोई आवरण है। 

व्यक्ति की कार्यशैली, व्यवहार, कर्म, वाणी, रहन-सहन, प्रकृति और स्वभाव ही उसका मापदंड है। सफलता भाग्य की फसल और पुरुषार्थ की निष्पत्ति है। हर किसी को वह नसीब नहीं होती। कुछ अलग पहचान बनाने या सफलता को हासिल करने के लिये जरूरी है कि हम जिस चेहरे पर जिस विशेषता की गरिमा को देखें, उसे आदर से जीना सीखें, क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति चाहता है अच्छा बनना, महान बनना, सफल बनना। हमें उन भूलों को लगाम देनी होगी, जिनकी स्वच्छंदता जीवन के विकास में बाधक बनती है। 

सफल एवं सार्थक जीवन को जो लोग धारण करते हैं, उनका व्यक्तित्व फौलादी होता है और वे बिना सोचे-समझे जल्दबाजी में जीवन का कोई निर्णय नहीं लेते। ऐसे व्यक्ति अन्याय और शोषण को सहते नहीं, उनका दमन भी नहीं करते, अपितु उनकी दिशा बदल देते हैं। वे सबके सुख-दुख को अपना सुख-दुख मानते हैं। उनकी सम्पूर्ण जिन्दगी औरों के लिये समर्पित हो जाती है। ऐसे व्यक्ति श्रेष्ठता का प्रमाण नहीं देते, बल्कि वे स्वयं प्रमाण होते हैं। उनकी सोच और कर्मशीलता उनके अच्छे होने को प्रदर्शित करती है। 

अच्छा बनने की राह में जिस व्यक्ति से कुछ सीखा जाता है, उसका बड़ा-छोटा होना महत्वपूर्ण नहीं है। महत्वपूर्ण है उससे सीखी जाने वाली बात। यदि किसी बहुत बड़ी हस्ती में कोई ऐब है तो वह त्याज्य है और यदि किसी बहुत छोटे आदमी में कोई सद‍्गुण है तो वह ग्राह्य है। मानव का लक्ष्य मानवता की प्राप्ति है, व्यक्ति विशेष के व्यक्तित्व की प्राप्ति नहीं। उसका आदर्श सार्वभौम अच्छाई है, सीमित अच्छाई नहीं। उसे ब्रह्म का अंश कहा जाता है। उसके अंदर भगवान का निवास माना जाता है। अपना निर्माता वह स्वयं है, जिसके लिए वह प्रेरणा और संबल कहीं से भी, किसी से भी ले सकता है। यदि वह हर व्यक्ति से कुछ लेने और सीखने का रास्ता खुला रखे तो उसकी उपलब्धियों की कोई सीमा नहीं रहेगी। 

सबसे खास बात यह है कि एक सफल व्यक्ति की तुलना में एक अच्छे इनसान की उपलब्धि लंबे समय तक स्मृति में बनी रहती है। उसके किए गए काम का दायरा भी व्यक्तिगत स्तर से ऊपर होता है। लेखक निक हॉर्नबी के अनुसार, एक सफल व्यक्ति अपनी उपलब्धियों की वजह से पहचाना जाता है। हालांकि यह उपलब्धियां मूलभूत रूप से केवल उसे फायदा पहुंचाने वाली होती हैं, लेकिन एक अच्छे व्यक्ति का काम स्वार्थ से परे होता है। 

अच्छा इनसान बनने के लिये सत्ता, सम्पत्ति और शक्ति कल्पना ही आधारहीन है। राम, कृष्ण, बुद्ध, महावीर, गांधी, आचार्य तुलसी विश्व क्षितिज पर सूर्य की तरह चमक उठे। यह सत्ता शक्ति की परिणति नहीं है। बल्कि उनकी मर्यादा, कर्मयोग, करुणा, संवेदनशीलता, परोपकारिता और अहिंसा ने उन्हें आकाशीय ऊंचाइयां दी थी। फ्रांस के एक शीर्षस्थ राजनीतिज्ञ से किसी ने पूछा-आप इतना अधिक काम करने के साथ ही सामाजिक हित के अन्य कार्यों में भाग लेने के लिए कैसे समय निकाल लेते हैं? उनका उत्तर था-मैं आज का काम आज ही कर लेता हूं। जो व्यक्ति एक-एक पल को कीमती समझकर उसका सही उपयोग करता है, वह अपने सौभाग्य का निर्माण कर सकता है। 



नाटककार जॉन ड्राइडेन ने कहा था-इस दुनिया के चारों ओर देखिए, केवल कुछ लोग अपनी अच्छाई के बारे में जानते हैं या यह जानते हैं कि उन्हें इसे खोजना है। कोई भी सफलता या सफल व्यक्ति इसकी बराबरी नहीं कर सकता। अमेरिकी निबंधकार, कवि और दार्शनिक हेनरी डेविड थोरो के अनुसार अच्छाई एकमात्र निवेश है जो कि कभी असफल नहीं होती। 

आचार्य महाप्रज्ञ के शब्दों में-बड़ा वह नहीं है जो धनवान है, बड़ा वह है जिसमें त्याग की चेतना है। बड़ा वह नहीं जो तथाकथित उच्च कुल में जन्मा है, बड़ा वह है जो सच्चरित्री है। बड़ा वह नहीं है जो शास्त्रों का पंडित है, बड़ा वह है जो संयमी है। महानता और लघुता सापेक्ष मूल्य है। महान बनने की अदम्य आकांक्षा रखने वाले व्यक्ति को त्याग और बलिदान की वेदी पर अपने प्राणों की आहुति देनी होती है, दीपक बनकर जलना होता है, फूल बनकर खिलना होता है और जीवनशैली को बदलना होता है।

            



Comments

Labels

Show more

Trending on Last 7 Days

Best 50 + [ Future business ideas 2025-2050 ] in the world | [ Smart and Profitable Business Ideas ] for Upcoming Future

लघु एवं कुटीर उद्योग, लघु उद्योग के बारे में जानकारी, घरेलू उद्योग, लघु उद्योग लिस्ट व्यवसाय लिस्ट,भारत में ग्रामीण क्षेत्रों के लिए छोटे व्यवसाय के विचारों,सबसे अच्छा व्यवसाय भारत में ग्रामीण क्षेत्रों के लिए व्यापार विचारों,भारत में निर्माण व्यवसाय विचारों,मोठा व्यवसाय ग्रामीण भारतातील प्रमुख व्यवसाय कोणता,ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार के अवसर घर का बिजनेस,home business, बिजनेस आइडिया 2020 laghu udyog and kutir udyog in Hindi,small business in hindi

सर्वर साइड के फायदे और नुकसान Advantages and Disadvantages of Server-Side in hindi

YouTube channel [ name ideas for education ] : Best Creative and Unique 2000+ [ Educational YouTube channel ] name ideas and suggestion

सकारात्मक सोच के लाभ,सकारात्मक सोच की शक्ति Benefits of Positive thinking in Hindi

laghu udyog in marathi - कमी गुंतवणूक| - 51 पेक्षा जास्त बिसेनेस कल्पना लघु उद्योग म्हणजे काय? 201 9 लागू उद्योग काय आहे?|मराठा मध्ये लागु उदय मराठे मध्ये लागु उदय कल्पना मराठीत 51 हजार विषयवस्तू कल्पना मराठी माहिती मध्ये लागु उदय

B2B मार्केटिंग क्या है?बी 2 बी कंपनियों के उदाहरण,बी 2 बी मार्केटिंग के प्रकार ,बी 2 बी कंपनी क्या है? B2B(Business to Business) marketing,example,company,strategy kya hai ,How to Develop or create B2B in HIndi

क्लाइंट साइड और सर्वर साइड के बीच अंतर difference between client side & server side

101+ Most [ Powerful Morning Affirmations ] for [ Self,love,Health,Life,Happiness,Success,Money,Confidence and Morning Quotes ] & Sayings with FAQ

लघु उद्योग क्या है ? 2019 Laghu Udyog kya hai?

Trending on Last 30 Days

लघु एवं कुटीर उद्योग, लघु उद्योग के बारे में जानकारी, घरेलू उद्योग, लघु उद्योग लिस्ट व्यवसाय लिस्ट,भारत में ग्रामीण क्षेत्रों के लिए छोटे व्यवसाय के विचारों,सबसे अच्छा व्यवसाय भारत में ग्रामीण क्षेत्रों के लिए व्यापार विचारों,भारत में निर्माण व्यवसाय विचारों,मोठा व्यवसाय ग्रामीण भारतातील प्रमुख व्यवसाय कोणता,ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार के अवसर घर का बिजनेस,home business, बिजनेस आइडिया 2020 laghu udyog and kutir udyog in Hindi,small business in hindi

Best 50 + [ Future business ideas 2025-2050 ] in the world | [ Smart and Profitable Business Ideas ] for Upcoming Future

सर्वर साइड के फायदे और नुकसान Advantages and Disadvantages of Server-Side in hindi

लघु उद्योग क्या है ? 2019 Laghu Udyog kya hai?

सकारात्मक सोच के लाभ,सकारात्मक सोच की शक्ति Benefits of Positive thinking in Hindi

laghu udyog in marathi - कमी गुंतवणूक| - 51 पेक्षा जास्त बिसेनेस कल्पना लघु उद्योग म्हणजे काय? 201 9 लागू उद्योग काय आहे?|मराठा मध्ये लागु उदय मराठे मध्ये लागु उदय कल्पना मराठीत 51 हजार विषयवस्तू कल्पना मराठी माहिती मध्ये लागु उदय

YouTube channel [ name ideas for education ] : Best Creative and Unique 2000+ [ Educational YouTube channel ] name ideas and suggestion

B2B मार्केटिंग क्या है?बी 2 बी कंपनियों के उदाहरण,बी 2 बी मार्केटिंग के प्रकार ,बी 2 बी कंपनी क्या है? B2B(Business to Business) marketing,example,company,strategy kya hai ,How to Develop or create B2B in HIndi

क्लाइंट साइड और सर्वर साइड के बीच अंतर difference between client side & server side

101+ Most [ Powerful Morning Affirmations ] for [ Self,love,Health,Life,Happiness,Success,Money,Confidence and Morning Quotes ] & Sayings with FAQ