Key Differences Between Static and Dynamic Web Pages

Key Differences Between Static and Dynamic Web Pages 


Static web pages are difficult to alter because it requires the change to be implemented at each point manually that is the reason its content doesn’t change regularly. On the other hand, the structure of dynamic pages is different from static web pages which contain server code and allows the server to generate unique content each time the page is loaded with the same source code.
The static web page is simple to construct while dynamic web pages are complex to construct and design.
Static & Dynamic Web Sites :

जैसे जैसे इन्टरनेट बहुत ही प्रचलित होता गया वेब साईट का कारोबार भी चल पड़ा पूर्व मैं जैसा की बताया जा चूका है की वेब साईट जानकारियों को संगृहीत करके उसे सुव्यवस्थित ढंग से प्रदर्शित करने का एक माध्यम है जो ब्राउज़र/browser की मदद से आपको वेब पेज/web page दिखता है ! school/ विद्यालयों, college / महाविद्यालयों , university/ विश्वविद्यालयों , कंपनी / company, संस्थाओं / organizations तथा व्यापारिक प्रतिष्ठानों आदि मैं वेब साईट का चलन बढ़ गया है जिससे आसानी से जानकारियों का आदान प्रदान किया जा रहा है और सूचनाएं द्रुत गति से पहुचाई जा रही है जिनमे न्यूज़ चैनल /news channel आदि भी बहुत आगे है ! एक वेब साईट मैं जहां

Text
Images
Audio/ Video
Flash


आदि आते हैं जो मिलकर वेबसाइट का निर्माण करने मैं सहायक होते हैं वेबसाइट उपयोग की दृष्टि एवं सुविधा देने की दृष्टि से दो प्रकार की होती है एक है static / स्थायी एवं dynamic / अस्थायी static websites मैं जानकारियों को वेब पेज मैं दर्शाया जरुर जाता है लेकिन ऐसे जानकारियां स्थिर रहती है वे बदलती नहीं है जैसे की किसी हॉस्टल की एक वेब साईट है जो की कमरे उपलब्ध करवाता है और जिसमे रहने खाने और खेल कूद तथा अध्ययन की विशेष सुविधा है तो ऐसे वेब पेज मैं कमरों के प्रकार उसमे दी गयी सुविधा , खेलकूद का मैदान , kitchen तथा पढ़ने के स्थान जैसे जानकारियां होंगी लेकिन इनमे कतिपय बदलाव कब आएगा जब डिजाईन को बदलना हो जानकारियां ऐसी ही रहेंगी जानकारियों को बदला नहीं जायेगा जब तक की वेब साईट बनाने वाला नहीं चाहे इसके ठीक विपरीत कोलेज / college की वेबसाइट मैं जानकारी वाला भाग तो static ही रहेगा लेकिन result तथा डाउनलोड तथा रजिस्ट्रेशन जैसे लिंक यदि होंगे तो वह dynamic कहलाएगी ! मसलन यदि आप college की वेबसाइट पर जाकर result देखना चाहेंगे तो वह आपसे आपका रोल नम्बर मांगेगी आप रोल नम्बर भरकर सबमिट करेंगे तब 
डेटाबेस/database मैं save आपके result को वेब पेज दिखा देगा लेकिन चूँकि ये आपके कंप्यूटर पर आपके रोल नम्बर के अनुसार आपको वेब पेज पर जानकारी दिखा रहा है सोचिये उसी समय किसी अन्य इन्टरनेट उपयोग करता इसी वेबसाइट के माध्यम से अन्य रोल नम्बर डालकर अलग result देख रहा होता है तो इस प्रकार ये dynamic वेब साईट है इस पर जानकारी database से आती है एवं बदलती रहती है ! एक और बात यदि ऐसे साईट मैं news का लिंक दिया हुआ है तो आज की तारीख की news पहले आएगी आने वाले कल मैं ये लिंक बदली हुए news दिखायेगा !


static साईट बनाने मैं आसान होती है लेकिन dynamic साईट चूँकि functional/कार्यकारी होती है इसलिए थोड़ी आसान नहीं कही जा सकती है !
static साईट को अपडेट करने के लिए आपको जानकार वेब developer की आवश्यकता पड़ती है जबकि dynamic साईट मैं अपडेट करना अमूमन आसान होती है !

static websites होस्ट करने मैं सस्ती पड़ती हैं चूँकि database बहुत जरुरी होता है dynamic वेबसाइट मैं तो ऐसी websites को होस्ट करना थोडा ज्यादा खर्चीला है !
static मैं इनफार्मेशन /Information स्थायी रहती है जबकि मौसम की जानकारी देने वाली वेबसाइट की तरह dynamic वेबसाइट मैं जानकारियां बदलती रहती हैं !

static websites मैं लोग बार बार जाना पसंद नहीं करते जबकि dynamic websites लोगो को अपनी और आकृष्ट करने मैं बहुत ही सक्षम होती है !

Key Differences Between Static and Dynamic Web Pages 

Thanks for Visiting!!

0 टिप्पणियाँ